सशक्त उत्तराखंड @25 चिंतन शिविर में धामी सरकार के मंत्रियों ने राज्य की तरक्की के लिए मंत्र फूंके ~

सशक्त उत्तराखंड @25 चिंतन शिविर में धामी सरकार के मंत्रियों ने राज्य की तरक्की के लिए मंत्र फूंके

सशक्त उत्तराखंड @25 चिंतन शिविर में धामी सरकार के मंत्रियों ने राज्य की तरक्की के लिए मंत्र फूंके

सशक्त उत्तराखंड @25 चिंतन शिविर में धामी सरकार के मंत्रियों ने राज्य की तरक्की के लिए मंत्र फूंके। वित्त मंत्री प्रेमचंद अग्रवाल ने राज्य की माली हालत सुधारने के लिए कमाई बढ़ाने पर जोर दिया तो पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज ने नौकरशाहों की मौजूदगी में ही उनकी एसीआर लिखने का मुद्दा उठाया।

कृषि मंत्री गणेश जोशी का कहना था कि हमें आंकड़ों के मायाजाल में फंसने के बजाय उत्पादों की गुणवत्ता पर ध्यान देना होगा। इसी तरह चिंतन शिविर में सरकार के अन्य मंत्रियों ने अपना विजन सामने रखा। पेश है ‘अमर उजाला’ की यह रिपोर्ट-

मंत्री भी चाहते हैं अफसरों की एसीआर लिखना : महाराज
कैबिनेट मंत्री सतपाल महाराज ने चिंतन शिविर में मंत्रियों को अफसरों की एसीआर लिखने का मामला उठाया। उन्होंने कहा कि मंत्री भी चाहते हैं कि वे भी अधिकारियों के कार्य के आधार पर एसीआर लिखें। इसमें कुछ भी गलत नहीं है। उन्होंने शीतकालीन पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए कार्य योजना बनाने और प्रदेश को वेडिंग डेस्टिनेशन बनाने पर गंभीरता से काम करना होगा।

हमें खर्च कम करने के प्रयास करने होंगे : अग्रवाल
वित्त मंत्री प्रेमचंद अग्रवाल ने कहा, हमें राजस्व व्यय को कम करने की दिशा में प्रयास करने होंगे। राज्य में आय के स्रोतों को बढ़ाना होगा। केंद्र पोषित योजनाओं पर विशेष ध्यान दिया जाए। विभिन्न कार्यों एवं योजना के लिए केंद्र से प्राप्त होने वाली धनराशि का सुनियोजित तरीके से समय पर व्यय किया जाए।विभागवार चिंतन शिविर और पांच संकल्पों पर हो काम : धन सिंह
स्वास्थ्य एवं शिक्षा मंत्री डॉ. धन सिंह रावत ने कहा कि विभागवार चिंतन शिविर होने चाहिए। 2025 तक उत्तराखंड को सर्वश्रेष्ठ राज्य बनाने के लिए पांच संकल्पों पर काम करने की जरूरत है। इसमें संपूर्ण शिक्षा, भ्रष्टाचार, क्षय रोग मुक्त और गरीबी एवं नशा मुक्त उत्तराखंड शामिल हैं।

विभागों को आपसी समन्वय से काम करना होगा : जोशी
कृषि एवं उद्यान मंत्री गणेश जोशी ने कहा कि सभी विभागों को आपसी समन्वय से कार्य करने होंगे। उत्पादों में आंकड़ों के बजाय गुणवत्ता पर अधिक ध्यान देने की जरूरत है। अधिकारी सुनिश्चित करें कि योजनाओं लाभ पात्र व्यक्तियों तक समय पर पहुंचे।

कार्यपालिका व विधायक में समन्वय जरूरी : उनियाल
वन मंत्री सुबोध उनियाल ने कहा कि राज्य के समग्र विकास के लिए कार्यपालिका एवं विधायिका के बीच सही समन्वय जरूरी है। इको टूरिज्म की संभावनाओं को और बढ़ाना होगा। एरोमेटिक फार्मिंग की दिशा में राज्य में प्रबल संभावनाएं हैं। इसके लिए स्थानीय लोगों को जागरूक किया जाए।  महिलाओं व युवाओं को सशक्त बनाने पर देना होगा ध्यान : रेखा 
कैबिनेट मंत्री रेखा आर्या ने कहा कि 2025 तक उत्तराखंड को अग्रणी राज्य बनाने के लिए महिलाओं एवं युवाओं के सशक्तिकरण की दिशा में विशेष ध्यान देना होगा।  

पर्वतीय क्षेत्रों में लघु उद्योग खोलने होंगे : चंदन रामदास
कैबिनेट मंत्री चंदन राम दास ने कहा कि हमें पर्वतीय क्षेत्रों में लघु उद्योगों को तेजी से बढ़ावा देना होगा। वहां ऐसे नए उद्योग खोलने होंगे। इससे रोजगार के अवसर बढ़ेंगे।

मछली उत्पादन में इनोवेटिव मार्केटिंग की जरूरत : बहुगुणा
कैबिनेट मंत्री सौरभ बहुगुणा ने कहा कि मत्स्य पालन किसानों की आय बढ़ाने के लिए अच्छा सेक्टर है। हमें इनोवेटिव मार्केटिंग की जरूरत है। उत्तरा फिश प्रोजेक्ट को शुरू किया गया है, राज्य में गोट वैली कांसेप्ट पर भी काम किया जा रहा है। 

editor

editor

Leave a Reply

Your email address will not be published.