UP Election 2022: पूर्व मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य के पुत्र अशोक मौर्य पुलिस हिरासत में

पडरौना। सपा नेता, पूर्व मंत्री और फाजिलनगर विधानसभा से प्रत्याशी स्वामी प्रसाद मौर्य का नाम मतदान से 10 घंटे पूर्व एक बार फिर चर्चा में आ गया है। इस बार चर्चा की वजह बनी है, उनके पुत्र अशोक मौर्य के पुलिस में हिरासत लिए जाने की कार्रवाई। आरोप है कि गैर जिले के निवासी होने के बावजूद वे फाजिलनगर विधानसभा क्षेत्र में वाहनों के साथ घूम रहे थे। पैसा बांटने का भी आरोप लगाया जा रहा है।

आदर्श आचार संहिता के अनुपालन के तहत मतदान के 48 घंटे पूर्व विधानसभा क्षेत्र में बाहरी व्यक्ति को नहीं रहना चाहिए। बावजूद इसके प्रत्याशी पुत्र अशोक अपने कुछ सहयोगियों व समर्थकों के साथ फाजिलनगर विधानसभा के गांव दुदही में घूम रहे थे। लोगों से मिलकर बातचीत कर रहे थे। इसकी शिकायत किसी ने की तो स्टेटिक टीम व पुलिस ने छापामारी कर उनको पकड़ा।

बताया जा रहा है कि उनके साथ पांच वाहन मिले तो कुछ लोग भी मिले। एसपी सचिन्द्र पटेल व जिलाधिकारी एस राजलिंगम ने बताया शाम को ऐसी शिकायत मिली थी कि प्रत्याशी के पुत्र द्वारा प्रचार किया जा रहा है और पैसा बांटा जा रहा है। इस आधार पर कार्रवाई की गई। गिरफ्तारी नहीं की गई, हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है। सामने आए तथ्यों के आधार पर आवश्यक कार्रवाई की जाएगी। इस बात की भी शिकायत मिली है कि उनके द्वारा प्रचार करते हुए पैसा बांटा जा रहा था। इसकी सत्यता भी पता की जा रही है।

कुशीनगर में मंगलवार को स्वामी प्रसाद मौर्य के काफिले पर हमले का आरोप लगाया गया था। इसके बाद भाजपा व सपा के कार्यकर्ता आमने सामने आ गए थे। बवाल होने के बाद भाजपा सांसद व स्वामी प्रसाद मौर्य की पुत्री संघमित्रा खुलकर अपने पिता के पक्ष में आ गई थीं। इसके बाद मंगलवार की देर रात संघमित्रा समेंत करीब दो दर्जन लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया था। अब स्वामी प्रसाद मौर्य के पुत्र को हिरासत में लिए जाने के बाद कुशीनगर की राजनीति गरमा गई है।

editor

editor

Leave a Reply

Your email address will not be published.