यूक्रेन में आसमान और जमीन से बर्बादी की बारिश, 24 घंटे में रूसी सेना ने 423 ठिकानों को बनाया निशाना ~

यूक्रेन में आसमान और जमीन से बर्बादी की बारिश, 24 घंटे में रूसी सेना ने 423 ठिकानों को बनाया निशाना

यूक्रेन में आसमान और जमीन से बर्बादी की बारिश, 24 घंटे में रूसी सेना ने 423 ठिकानों को बनाया निशाना

कीव। रूसी सेनाओं ने रविवार-सोमवार की दरमियानी रात पूरे यूक्रेन में कहर बरपा दिया। राजधानी कीव सहित प्रमुख शहरों और अन्य स्थानों के 400 से ज्यादा लक्ष्यों को हवाई बमबारी, टैंक गोलाबारी और मिसाइल हमलों का निशाना बनाया गया। रूसी हमलों से परेशान यूक्रेन के राष्ट्रपति वोलोदिमीर जेलेंस्की ने दुनिया से रूस को रोकने की गुहार लगाई है। कहा है कि रूसी सेना यूक्रेन में सब कुछ बर्बाद करने पर आमादा है। उनकी सेना पूर्वी यूक्रेन को बचाने के लिए हर संभव प्रयास कर रही है।रूसी रक्षा मंत्रालय ने कहा है कि बीते 24 घंटे में खार्कीव, जपोरीजिया, डोनेस्क और डेनिप्रोपेट्रोव्स्क के 20 से ज्यादा सैन्य ठिकानों को निशाना बनाया गया। रूसी वायुसेना के विमानों ने इस दौरान 108 इलाकों में लक्ष्यों को निशाना बनाया। जबकि रूसी टैंकों और तोपों ने यूक्रेन के 315 सैन्य और अन्य महत्वपूर्ण ठिकानों पर गोलाबारी की। रूस ने उत्तरी यूक्रेन से अपनी सेना हटाकर पूर्वी यूक्रेन के डोनेस्क और लुहांस्क में तैनात कर दी है। यह सेना अपने हमलों से वहां कहर बरपा रही है।

सोमवार को राजधानी कीव के नजदीक वासिलकीव के सैन्य हवाई अड्डे पर भी रूसी मिसाइल का हमला हुआ। इंटरनेट मीडिया पर आए वीडियो में वहां से काफी मात्रा में धुआं उठता दिखाई दे रहा है लेकिन वहां हुए नुकसान की जानकारी नहीं मिल सकी है। रूसी सेना ने कहा है कि बीते 24 घंटे में पूर्वी और मध्य यूक्रेन के 20 से ज्यादा सैन्य ठिकानों को निशाना बनाया गया है।

लवीव में सात और खार्कीव में पांच नागरिकों की मौत

पश्चिमी यूक्रेन में स्थित लवीव में रूसी मिसाइल हमले में सात लोग मारे गए और 12 घायल हुए हैं। लवीव के रीजनल गवर्नर मैक्सिम कोजित्स्की ने बताया है कि रविवार-सोमवार की रात में हुए रूसी मिसाइल हमलों में क्षेत्र के तीन सैन्य ठिकानों और एक टायर फैक्ट्री को निशाना बनाया गया। रूसी हमले में शरणार्थियों का ठिकाना बना एक होटल भी क्षतिग्रस्त हो गया है। देश के दूसरे बड़े शहर खार्कीव में रूसी गोलाबारी में पांच लोगों के मारे जाने की खबर है।

मारीपोल में लड़ाई जारी, अभी तक 21 हजार मरे

मारीपोल में अजोवस्टाल स्टील फैक्ट्री में मोर्चा जमाए यूक्रेनी सैनिकों और लड़ाके अभी भी रूसी सैनिकों से लोहा ले रहे हैं। रविवार को उन्होंने रूसी सेना के सामने हथियार डालने से इन्कार कर दिया था। मारीपोल में अभी भी करीब एक लाख नागरिक फंसे हुए हैं जबकि डेढ़ महीने से ज्यादा के युद्ध के दौरान वहां पर 21 हजार से ज्यादा लोग मारे गए हैं। मारीपोल के मेयर ने आरोप लगाया है कि उनके शहर के 40 हजार लोगों को रूसी सेना जबरन अपने साथ ले गई है। ये लोगों को रूस या रूस के कब्जे वाले इलाके में ले जाए जाने का शक है। मारीपोल की अजोवस्टाल फैक्ट्री से लड़ रहे यूक्रेन की सेना के मेजर ने पोप फ्रांसिस को संदेश भेजकर फैक्ट्री परिसर में मौजूद महिलाओं-बच्चों की जान बचाने की अपील की है।

रूसी सेना ने पकड़े दो ब्रिटिश लड़ाकेयूक्रेन के युद्ध मैदान से दो ब्रिटिश लड़ाकों को रूसी सेना ने पकड़ा है। रूसी सरकारी टीवी चैनल रूसिया 24 पर दोनों लड़ाकों- शौन पीनर और ऐडेन आसलिन के फुटेज आए हैं। दोनों लड़ाके ब्रिटिश प्रधानमंत्री बोरिस जानसन से छुड़वाने की अपील करते सुनाई दे रहे हैं। वे कह रहे हैं कि उन्हें यूक्रेन में गिरफ्तार रूस समर्थक राजनीतिक नेता विक्टर मेदवेदचुक के बदले में रिहा करवाया जाए।टार्चर चैंबर में हो रहा अत्याचारराष्ट्रपति जेलेंस्की ने कहा है कि दुनिया यूक्रेन में रूस के अत्याचार को रोके। कहा कि रूसी सेना ने कई स्थानों पर टार्चर चैंबर बना रखे हैं, जहां पर नागरिकों को पकड़कर उनका अमानवीय उत्पीड़न किया जाता है। पिछले चार दिनों में खार्कीव में 18 लोग मारे गए हैं और 106 घायल हुए हैं। रूसी सेना ने खेरसोन और जपोरीजिया में रूसी करेंसी का प्रचलन भी करा रही है। जेलेंस्की ने दावा किया है कि यूक्रेन को कुछ ही हफ्तों में यूरोपीय यूनियन की सदस्यता मिल जाएगी। इस सिलसिले में सारी औपचारिकताएं पूरी कर दी गई हैं।

editor

editor

Leave a Reply

Your email address will not be published.